भारतीय जूनियर टेबल टेनिस टीम ने सर्बिया में जीता खिताब

85

बेलग्रेड, 7 अक्टूबर | भारत के नए युग के टेबल टेनिस खिलाड़ियों ने यहां जारी सर्बिया ओपन एंड कैडेट ओपन में शनिवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए जूनियर ब्वाएज टीम स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता। इससे पहले, मानव ठक्कर ने दो रजत और मानुष शाह तथा अर्चना कामत ने एक-एक रजत और कांस्य अपने नाम किए। इनकी सफलता ने विश्व स्तर पर भारत की चमक बढ़ा दी है।

मानव ठक्कर, मानुष शाह और इशान हिंगोरानी की भारतीय टीम ने शैरोन अल्गुएती, गाल अल्गुएती और जेरेमी हाजिन की अमेरिकी-कनाडाई टीम को फाइनल में 3-1 से हराया।

मुम्बई के मानव ने रजत पदक जीतते हुए खिताब जीतने का सिलसिला शुरू किया जबकि वड़ोदरा के मानुष ने जूनियर ब्वाएज सिंगल्स वर्ग में कांस्य जीता। इसके बाद दोनों ने जूनियर ब्वाएज डबल्स में भारत के लिए रजत पदक जीता।

बेंगलुरू की अर्चना ने भी शानदार खेल दिखाया औ्र जूनियर गर्ल्स सिंगल्स वर्ग में रजत तथा गर्ल्स डबल्स में सर्बिया की ड्रागाना विगनिजेविक के साथ कांस्य जीता।

मानव टूर्नामेंट में टॉप सीड हैं लेकिन वह फाइनल में अमेरिका के शेरॉन अल्गुएती के हाथों हार गए और सिंगल्स में स्वर्ण जीतने का मौका गंवा बैठे। मानव यह मैच 3-4 (7-11, 10-12, 11-6, 12-14, 11-8, 11-8, 7-11) से हारे।

डबल्स में भी मानव बेहतरीन लय में दिखे। वह अपने जोड़ीदार मानुष के साथ पूरे जोश के साथ खेलते दिखे लेकिन कनाडाई-रोमानियाई जोड़ीदार जेरेमी हाजिन और पाल म्लाडिन ने उनकी एक न चलने दी और यह मुकाबला 3-2 (11-7, 9-11, 11-6, 11-13, 12-10) से जीत लिया।

जूनियर गर्ल्स कटेगरी में टॉप सीड अर्चना ने सर्बिया की सबीना सुर्जन के खिलाफ शानदार खेल दिखाया लेकिन वह यह करीबी मुकाबला 3-4 (11-9, 4-11, 7-11, 13-11, 11-3, 7-11, 8-11) से हार गईं।

इसके बाद उनकी स्थानीय पार्टनर ड्रागाना को भी जर्मनी की सोफिया क्ली और युकी सुतसुई के हाथों 2-3 (5-11, 11-7, 11-8, 6-11, 5-11) से हार मिली।