सीसीटीवी कैमरे खराब होने पर सैफई के साई हाॅस्टल में दो दिन खिलाड़ियों को भूखा रखा गया

81
साभार
कानपुर : सैफई (इटावा) हाॅस्टल में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के 15 खिलाड़ियों के साथ एक ऐसी घटना हुई जिसने खेल की आत्मा को तो झकझोर कर रख ही दिया साथ ही भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के लोकल इंचार्ज को मानवता के विपरीत आचरण करने पर कठघरे में भी खड़ा कर दिया। खिलाड़ियों ने आरोप लगाया है कि हाॅस्टल में लगे सीसी टीवी कैमरों को खराब करने और उसके केबल काटने का दोष उन पर मढ़ कर दो दिन उनको खाना नहीं दिया गया। नाराज खिलाड़ियों ने मास्टर चांदगीराम स्टेडियम के बाहर अपने इंचार्ज के खिलाफ उत्पीड़न करने का आरोप लगा प्रदर्शन और नारेबाजी की।
सैफई के साई सेंटर में हैंडबाल, कुश्ती और एथलेटिक्स के 52 खिलाड़ियों को ट्रेनिंग दी जाती है। खिलाड़ियों का आरोप है कि पिछले दिनों किसी ने सीसी टीवी कैमरे खराब कर दिए और उसके तार भी तोड़ दिए। इसका दोष हम 15 खिलाड़ियों पर मढ़ा जा रहा है। हमें हाॅस्टल से निकालने की धमकी भी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि दो दिनों से उन्हें मेस में खाना नहीं दिया गया। खाने के लिए बाहर भटकना पड़ रहा है। खिलाड़ियों ने बताया कि उनसे सीसी टीवी के लिए पैसे भी मांगे जा रहे हैं।
सवाल उठता है कि यदि सीसी टीवी खराब हुए तो क्या इसकी जांच करवाई गई या लोकल साई प्रभारी ने खुद ही यह तय कर लिया कि इसके पीछे छात्रों का ही हाथ है। यदि मान भी लिया जाए कि इसके पीछे खिलाड़ियों का ही हाथ है तो भी क्या इसकी सजा उन्हें भूखा रखने की दी जा सकती है? आरोपित कोच आशीष कर का इस बारे में कहना है कि खिलाड़ियों का रोज खाना बन रहा है। पनिशमेंट के तौर पर सिर्फ एक टाइम की डाइट रोकी गई थी। इसके बाद उन्होंने खुद ही खाना नहीं खाया। उन्होंने कहा कि सीसी टीवी कैमरे खराब किए गए हैं, इसलिए खिलाड़ियों से 150-150 रुपए मांगे गए हैं। कहा, हमें खिलाड़ियों को अनुशासित रखना होता है, इसलिए थोड़ा पनिशमेंट भी देते हैं। खिलाड़ी दो दिन भूखा रखने का गलत आरोप लगा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here