पूर्व हॉकी कप्तान गुरबक्श ने पाकिस्तान संग खेल का समर्थन किया

6

कोलकाता : भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान गुरबक्श सिंह का मानना है कि भारत को अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में पाकिस्तान के साथ खेलना चाहिए और उसे हराना चाहिए। इस वर्ष जून में भुवनेश्वर में हॉकी सीरीज फाइनल्स होने हैं और यह टोक्यो ओलम्पिक-2020 के लिए एक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट है।

गुरबक्श ने आईएएनएस से कहा, “यहां कुछ अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबद्धताएं हैं, जिसे हमें पूरा करना चाहिए। हम उनसे द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेलेंगे।” गुरबक्श ने कहा, “आप अपनी पीढ़ी के खिलाड़ियों का करियर नष्ट कर रहे हैं। यह बहुत शर्म की बात है।” भारत ने पुलवामा हमले के बाद नई दिल्ली निशानेबाजी विश्व कप में पाकिस्तान के दो निशानेबाजों को वीजा नहीं दिया था।

पूर्व कप्तान ने कहा, “उन्हें आने दो। यह हमारी प्रतिबद्धता है। हम दोस्ती नहीं बढ़ा रहे हैं। हम द्विपक्षीय सीरीज में नहीं खेल रहे हैं। लेकिन हम उन्हें अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में खेलने देंगे।” गुरबक्श वर्ष 1964 ओलम्पिक और 1966 में एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने कहा, “1965 में युद्ध हुआ था। जालंधर में हमारा शिविर था। 1964 में हमने उन्हें हराया और 1965 के युद्ध के बाद, 1966 में एशियाई खेलों में भी हमने उन्हें (पाकिस्तान को) मात दी थी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here