कबड्डी, फुटबाल जैसे भारतीय खेलों को बढ़ावा देने की जरूरत : सुशील मोदी

5
साभार

पटना : बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने शुक्रवार को कबड्डी, खो-खो और फुटबॉल को भारतीय खेल बताते हुए कहा कि ऐसे खेलों को बढ़ावा देने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कबड्डी के खेल में किसी संसाधन या पैसे की जरूरत नहीं पड़ती है बल्कि खिलाड़ी अपने दम पर प्रदर्शन करते हैं। पटना के पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कम्पलेक्स में ’64 वीं राष्ट्रीय विद्यालय कबड्डी प्रतियोगिता’ का उद्घाटन करते हुए उपमुख्यमंत्री ने कहा, “प्रो कबड्डी लीग के टीवी पर प्रसारण से इस दौर में एक बार फिर कबड्डी गांव-गांव तक पहुंच गई है। अब इस खेल में शोहरत और पैसा दोनों हैं।”

मोदी ने क्रिकेट को इंग्लैंड का खेल बताते हुए कहा, “आमतौर पर किक्रेट उन्हीं देशों में खेला जाता है जो कभी न कभी ब्रिटेन के अधीन रहे हैं। दुनिया के ताकतवर देश अमेरिका, जर्मनी, जापान आदि क्रिकेट नहीं खेलते हैं। क्रिकेट के साथ-साथ भारतीय खेलों को भी प्रोत्साहित करने की जरूरत है।” इस मौके पर कला-संस्कृति व युवा विभाग के मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि ने भी खिलाड़ियों को संबोधित कर उनका उत्साहवर्धन किया। मोदी ने अन्य राज्यों से आए खिलाड़ियों को आश्वस्त करते हुए कहा कि तीन दिन के इस आयोजन में उन्हें कोई भी असुविधा नहीं होने दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here