टेस्ट क्रिकेट ऐसी होनी चाहिए : डु प्लेसिस

8
साभार

डरबन : श्रीलंका के हाथों पहले टेस्ट मैच में एक विकेट से मिली करीबी हार के बाद दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फॉफ डु प्लेसिस ने कहा है कि वास्तव में टेस्ट क्रिकेट ऐसी होनी चाहिए, जैसा कि इस मैच में देखने को मिली। श्रीलंका ने कुसल परेरा (नाबाद 153) के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी और 11वें नंबर के बल्लेबाज विश्वा फर्नाडो (नाबाद 6) के बीच आखिरी विकेट के लिए हुई 78 रनों की अविजित मैच जिताऊ रिकार्ड साझेदारी के दम पर शनिवार को पहले टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका को एक विकेट से हरा दिया।

क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार, श्रीलंका को परेरा की इस अहम पारी के दम पर पिछले साल अक्टूबर के बाद से पहली जीत मिली है। डु प्लेसिस ने मैच के बाद कहा, “टेस्ट क्रिकेट ऐसी होनी चाहिए। लोगों को ऐसा दिखना चाहिए, चाहे वह तीन, चार या पांच दिन का ही क्यों न हो। यदि आप इस तरह के मैच देखते हैं तो यह अभी भी नंबर वन प्रारूप है। ऐसे मैच अविश्वसनीय होते हैं जो कभी विपक्ष टीम के पास तो कभी आप के पास आ जाते हैं। ऐसे अद्भुत टेस्ट मैच का हिस्सा बनना शानदार होता है।”

दक्षिण अफ्रीका ने डरबन में पिछले 10 वर्षो में अब तक केवल एक टेस्ट मैच जीता है। परेरा ने जिस तरह की पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई है, ठीक उसी तरह बाएं हाथ के दिग्गज बल्लेबाज ब्रायन लारा ने दिलाई थी। लारा ने 1999 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ 153 रनों की ही पारी खेलकर वेस्टइंडीज को अहम जीत दिलाई थी। कप्तान ने कहा, “हमारा रिकॉर्ड यहां बहुत खराब है। मैं ऐसे हार से निराश हूं क्योंकि हमने दोनों पारियों में रन बनाए थे। पिछले दो वर्षों में हमने मुश्किल पिचों पर बल्लेबाजी की है और रन बनाए हैं, इसलिए मुझे लगा कि यहां हमारे पास एक मौका है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here